सबसे अधिक पेड़ लगाने के मामले में भारत ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, 1 घंटे में लगे 10 लाख पेड़

सबसे अधिक पेड़ लगाने के मामले में भारत ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, 1 घंटे में लगे 10 लाख पेड़
सबसे अधिक पेड़ लगाने के मामले में भारत ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, 1 घंटे में लगे 10 लाख पेड़

सबसे अधिक पेड़ लगाने के मामले में भारत ने बनाया विश्व रिकॉर्ड, 1 घंटे में लगे 10 लाख पेड़ – हाल ही में भारत में ग्रीन इंडिया चैलेंज के तहत तेलंगाना के आदिलाबाद जिले में 1 घंटे में 10 लाख पेड़ लगाए गए जो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया। इस उपलब्धि को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के लिए एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन इंडिया चैलेंज को राज्यसभा सांसद जोगिनिपल्ली संतोष कुमार द्वारा शुरू किया गया था।

पूरे क्षेत्र को 10 भागों में किया गया था विभाजित

इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को बनाने के लिए वॉलिंटियर्स ने पूरे क्षेत्र को 10 भागों में विभाजित किया था। दिनांक 10 भागों में 10 लाख पेड़ लगाने के लिए वॉलिंटियर्स में लगभग 30000 से भी अधिक लोग तेलंगाना राष्ट्र समिति के सदस्य एवं कई सारे स्थानीय लोग शामिल थे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राज्यसभा सांसद ने ग्रीन इंडिया चैलेंज की शुरुआत 4 साल पहले की थी। अब तक इस कैंपेन के तहत करोड़ों पौधे लगाए जा चुके हैं।

इन जगहों पर लगाए गए पेड़

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए दुर्गानगर में 200 एकड़ से अधिक में फैले वन क्षेत्र में मियावाकी मॉडल के माध्यम में 5 लाख पौधे लगाए गए। 60 मिनट में आदिलाबाद ग्रामीण बेला मंडल में 2 लाख पौधे, शहरी क्षेत्र के 45 घरों में 1 लाख 80 हजार पौधे लगाए गए। इसके अलावा वालिंटियर्स ने R और B रोड के दोनों ओर 1 लाख 20 हजार पौधे लगाए गए।

पूरे कार्यक्रम का हुआ वीडियो रिकॉर्डिंग

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने वाले इस 10 लाख वृक्षारोपण का पूरा वीडियो में रिकॉर्ड किया गया है और साथ ही साथ इसके लिए एक भव्य कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया जिसका भी पूरा वीडियो रिकॉर्ड किया गया है। इस वृक्षारोपण को देखने के लिए गिनीज बुक की टीम भारत आई थी। इस कार्यक्रम में कोविड-19 प्रोटोकॉल काफी अच्छी तरह से पालन किया गया है। इस कार्यक्रम एवं वृक्षारोपण के वीडियो को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी भेजा जाएगा।

इस वृक्षारोपण कार्यक्रम में ग्रीन इंडिया चैलेंज की शुरुआत करने वाले राज्यसभा सांसद जोगिनिपल्ली संतोष कुमार, तेलंगाना के वन-पर्यावरण और विज्ञान-प्रौद्योगिकी मंत्री अल्लोला इंद्र करण रेड्डी, तेलंगाना राष्ट्र समिति पार्टी के कई विधायक गण एवं पदाधिकारी भी मौजूद रहे। इन सभी लोगों द्वारा इस कार्यक्रम को काफी सराहना मिली और साथ ही साथ ग्रीन इंडिया चैलेंज को और भी बड़े स्तर तक ले जाने की बात कही गई। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन इंडिया चैलेंज के तहत भारत में अब तक करोड़ों पेड़ लगाए जा चुके हैं।

कोविड-19 महामारी ने लोगों को बताया पर्यावरण एवं जलवायु की सुरक्षा का महत्व: वन एवं पर्यावरण मंत्री

इस कार्यक्रम में अपनी बात रखते हुए तेलंगाना के वन-पर्यावरण इंद्र करण रेड्डी ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने सभी को यह एहसास दिलाया कि पर्यावरण और जलवायु की सुरक्षा का महत्व कितना अधिक है। यदि इसी तरह से भारत के सभी लोग पेड़ को बचाने एवं पेड़ को लगाने पर ध्यान देते हैं तो निश्चित ही देश में पर्यावरण एवं जलवायु अच्छी स्थिति में रह सकेगा। हम आगे आने वाले कई चुनौतियों के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं और भविष्य में आने वाले खतरे को टालने की व्यवस्था कर सकते हैं।

दुर्गा नगर क्षेत्र में वृक्षारोपण को देखने के बाद वंडर बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने इस प्रोग्राम को प्रशस्ति पत्र भी दिया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले एक साथ सबसे अधिक पौधे लगाने का रिकॉर्ड तुर्की के नाम दर्ज था। तुर्की ने साल 2019 में 303000 पौधे लगाकर एक ही समय में सबसे अधिक वृक्षारोपण करने का रिकॉर्ड बनाया था। अब 10 लाख वृक्षारोपण करके इस रिकॉर्ड को भारत ने तोड़ दिया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*