Haseen Dilruba Movie Review

Haseen Dilruba Movie Review
Haseen Dilruba Movie Review

Haseen Dilruba Movie Review: क्लाइमेक्स में कमजोर नजर आती है तापसी और विक्रांत की यह फिल्म – हाल ही में 2 जुलाई को तापसी पन्नू, विक्रांत मेस्सी और हर्षवर्धन राणे की फिल्म हसीन दिलरूबा ओटीटी प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई। इस फिल्म को समीक्षकों द्वारा नेगेटिव रिव्यू मिला है। आईएमडीबी पर इसे 10 में से 6.7 की रेटिंग मिली है। फिल्म क्रिटिक कमाल आर० खान ने इस फिल्म को सी ग्रेड फिल्म और इस में काम करने वाले अभिनेताओं को सी ग्रेड अभिनेता तक कह डाला है। हालांकि कमाल आर खान अपने फिल्म रिव्यू से अक्सर चर्चे में रहते हैं। इस फिल्म की कहानी क्लाइमेक्स तक जाते-जाते बेहद कमजोर हो जाती है जो फिल्म समीक्षकों को अच्छी नहीं लगी है।

Haseen Dilruba Cast:

• तापसी पन्नू: रानी कश्यप के रूप में
• विक्रांत मैसी: ऋषभ सक्सेना उर्फ रिशु के रूप में
• हर्षवर्धन राणे: नील त्रिपाठी के रूप में
• आदित्य श्रीवास्तव: इंस्पेक्टर किशोर रावत के रूप में
• आशीष वर्मा: अफजारी के रूप में
• यामिनी दास: लता के रूप में
• दया शंकर पांडे: बृजराज के रूप में
• अल्का कौशल: श्रीमती कश्यप के रूप में
• अमित ठाकुर: श्री कश्यप के रूप में
• पूजा सरूप: बीना मासी के रूप में
• अतुल तिवारी: वरिष्ठ निरीक्षक के रूप में
• दीपेश जगदीश: नवरंगी के रूप में
• आशिक हुसैन: रस्तोगी के रूप में
• आलोक चटर्जी: गांधी के रूप में
• प्रीति सिंह: बिंदिया के रूप में
• श्याम किशोर: मिश्रा के रूप में

Haseen Dilruba Production & Direction

• निर्देशक: विनील मैथ्यू
• प्रोड्यूसर: आनंद एल० राय, हिमांशु शर्मा, भूषण कुमार, कृष्ण कुमार
• कहानी लेखक: कनिका ढिल्लों

Haseen Dilruba Movie Review

हसीन दिलरूबा एक मर्डर मिस्ट्री फिल्म है जिसमें तापसी पन्नू, विक्रांत मेस्सी और हर्षवर्धन राणे ने मुख्य भूमिका निभाई है। इस फिल्म में नील त्रिपाठी (हर्षवर्धन राणे), रानी कश्यप (तापसी पन्नू) और ऋषभ सक्सेना उर्फ रिशु (विक्रांत मैसी) का लव ट्रायंगल भी दिखाया गया है। रिशु और रानी एक दूसरे से शादी करते हैं लेकिन दूसरे ही दिन उन्हें समझ में आता है कि दोनों एक दूसरे में जो खूबियाँ ढूंढ रहे थे वह नहीं है। दूसरे ही दिन रानी एवं रिशु के बीच लड़ाई हो जाती है और इस दौरान रानी कहती हैं “मैं आउटगोइंग हूँ, माडर्न हूं लेकिन फिर भी होमली हूँ, बस पकोड़े तलने नहीं आते मुझे।”

इसके बाद ऋषभ सक्सेना का मौसेरा भाई नील त्रिपाठी (हर्षवर्धन राणे) उसके घर आता है और रानी कश्यप उसमें वे सारी खूबियां देखती है जो उसे अपने पति में चाहिए थी। इस तरह से उनका एक दूसरे के साथ लगाओ हो जाता है। लेकिन बाद में रानी कश्यप और ऋषभ सक्सेना के बीच सब कुछ ठीक होने वाला होता है लेकिन तब तक ऋषभ सक्सेना के मौत की खबर आ जाती है। इस फिल्म में आदित्य श्रीवास्तव ने इंस्पेक्टर किशोर रावत का किरदार निभाया है।

किशोर रावत इस मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने के लिए केस पर काम करता है लेकिन रानी कश्यप की बातों को सुनने के बाद वह इसमें और भी उलझ जाता है और अच्छी तरह से समझ जाता है कि यह मर्डर मिस्ट्री इतनी आसान नहीं है जितनी वह समझ रहा था। यह कहानी एक मर्डर मिस्ट्री पर आधारित है लेकिन मर्डर मिस्ट्री में जिस प्रकार से क्लाईमेक्स होना चाहिए वह नहीं दिखा पाया गया है। इसीलिए इसे फिल्म समीक्षकों से नकारात्मक रिव्यू मिला है। कई समाचार पत्रों से जुड़े समीक्षकों ने इसे 5 में से 1.5 या 2 की रेटिंग दी है।

इस फिल्म में रानी कश्यप साहित्य प्रेमी होती है और वह दिनेश पंडित की बहुत बड़ी फैन रहती है। पति की मौत के बाद इंस्पेक्टर किशोर रावत द्वारा पूछताछ करने पर वह कहती है कि “हर कहानी के बहुत पहलू होते हैं, फर्क बस ये होता है कि कहानी सुना कौन रहा है।” इस फिल्म में ऐसे ही कुछ संवाद हैं जो लोगों को अपनी ओर थोड़ा बहुत आकर्षित कर सकते हैं बाकी या कहानी मर्डर मिस्ट्री के स्तर से बेहद कमजोर साबित होती हुई दिखाई देती है।

कलाकारों ने किया है अच्छा काम

फिल्म की कहानी भले ही कमजोर हो लेकिन इस फिल्म में सभी कलाकारों ने अच्छी भूमिका निभाई है और अपने अपने काम से लोगों को खुश किया है। इस फिल्म में सबसे अच्छा किरदार विक्रांत मेस्सी ने निभाया है क्योंकि उन्होंने इसमें अलग-अलग किरदारों को बड़े पर्दे पर दिखाया है। विक्रांत मेस्सी ने मिर्जापुर क्रिमिनल जस्टिस जैसे वेब सीरीज से अपनी अलग पहचान बनाई है। तापसी पन्नू, हर्षवर्धन राणे और आदित्य श्रीवास्तव ने भी अच्छा काम किया है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*