विलियमसन ने बताया कि WTC फाइनल जीतने पर उन्होंने विराट कोहली के कंधे पर सिर क्यों रखा?

विलियमसन ने बताया कि WTC फाइनल जीतने पर उन्होंने विराट कोहली के कंधे पर सिर क्यों रखा?
विलियमसन ने बताया कि WTC फाइनल जीतने पर उन्होंने विराट कोहली के कंधे पर सिर क्यों रखा?

विलियमसन ने बताया कि WTC फाइनल जीतने पर उन्होंने विराट कोहली के कंधे पर सिर क्यों रखा? –कप्तान केन विलियमसन के नेतृत्व में न्यूजीलैंड ने दूसरी बार आईसीसी का कोई खिताब जीता। इससे पहले न्यूजीलैंड 2015 में ब्रैंडन मैकुलम के नेतृत्व में और 2019 में केन विलियमसन के नेतृत्व में आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में हार का सामना कर चुकी है। ऐसे में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड की जीत उनके लिए काफी खास रही। कप्तान केन विलियमसन ने जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली के कंधे पर फिर रखा था जिसके बाद बहुत सारे लोगों ने उनसे इस बारे में सवाल करना शुरू कर दिया था।

हाल ही में दिए गए एक इंटरव्यू में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने खुलासा किया कि उन्होंने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली के कंधे पर अपना सिर क्यों रखा था? उन्होंने बताया कि विराट के साथ कई वर्षों से दोस्ती है और यह वास्तव में अच्छा क्षण था। हमारी दोस्ती और रिश्ता क्रिकेट से गहरा है, यह हम दोनों भलीभांति जानते हैं।

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में केन विलियमसन ने की थी शानदार बल्लेबाजी

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने शानदार बल्लेबाजी का मुजायरा पेश किया था। उन्होंने पहली पारी में 49 और दूसरी पारी में 52 रनों की नाबाद पारी खेलकर अपनी टीम को पहली बार आईसीसी का खिताब जीता या। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का पहला संस्करण खेला जा रहा था। आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहले नंबर पर मौजूद न्यूजीलैंड की टीम ने इस फाइनल मुकाबले में यह दिखा दिया कि वह पहले रैंकिंग पर रहने के काबिल है।

दूसरी बार न्यूजीलैंड ने जीता आईसीसी का खिताब

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जीत हासिल करने के बाद न्यूजीलैंड ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में दूसरी बार आईसीसी का कोई खिताब जीता। इससे पहले न्यूजीलैंड की टीम साल 2000 में केन्या में खेले गए आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी आईसीसी नॉकआउट टूर्नामेंट की विजेता रह चुकी है। इस टूर्नामेंट के फाइनल में उन्होंने भारतीय टीम को 2 गेंद शेष रहते हुए 4 विकेट से हराया था।

इस मैच में न्यूजीलैंड के कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया था और भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया था। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 6 विकेट खोकर 264 रन बनाए थे। इसमें कप्तान सौरव गांगुली ने 117 और सचिन तेंदुलकर ने 69 रनों की पारी खेली थी।

न्यूजीलैंड की टीम ने की थी खराब शुरुआत:

265 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने खराब शुरुआत की और भारतीय टीम के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 23.2 ओवरों में न्यूजीलैंड के 5 बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया था। लेकिन क्रिस केयर्न्स और क्रिस हैरिस ने सातवें विकेट के लिए 122 रनों की शानदार साझेदारी की। क्रिस हैरिस 46 रन बनाकर 49वें ओवर में वेंकटेश प्रसाद के तीसरी गेंद पर आउट हुए और तब तक न्यूजीलैंड की टीम 254 रन बना चुकी थी।

इसके बाद अगले 3 गेंदों में न्यूजीलैंड की टीम 8 रन बना चुकी थी। इसमें चौथी गेंद पर 4 रन और पांचवीं गेंद पर 2 रन लेग बाई के आए थे। अंतिम ओवर में जीत के लिए मात्र 3 रनों की आवश्यकता थी, जिसे केयर्न्स और एडम परौर ने बड़े ही आसानी से एक-एक रन दौड़ कर पूरा कर लिया और आईसीसी के खिताब पर भी कब्जा कर लिया।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*